ध्यान का अनुभव

" जीवन का लक्ष्य सेवा " - अनील भारती, लुधियाना

" मैं और नन्हें ध्यानी " 

" पत्री जी को प्रणाम .... ध्यान को सलाम " - दिनेश जनार्दन, मुम्बई

" ध्यान मेरा मार्गदर्शक " - कांता दुग्गड़, कटक

" मेरी इजिप्ट की महान यात्रा " - रचना गुप्ता, लुधियाना

" स्वयं पर भरोसा, हमारा संदेश है " - विपुल अगरवाल, लुधियाना

" मैंने पूर्ण पथ प्रदर्शक पाया " - विनय कुमार चण्डीगढ़

ध्यान में मुझे यह सभी पत्रीजी ने सिखाया " - वरलक्ष्मी, विजयवाड़ा 

" ध्यान ही सही राह " - वैभव खन्ना, लुधियाना

" ध्यान ही मोक्ष है " - थानेश्‍वर शर्मा, लुधियाना

" ध्यान केन्द्र ने सूदभवन को परिपूर्ण बना दिया है... " - सुरेन्द्र सूद, चण्डीगढ़ 

" जीवन परिवर्तन " - सुनील जिंदल, लुधियाना

ध्यान के चमत्कार " - श्रीनिवास राव, पूर्व गोदावरी

" ध्यान के चमत्कार " - श्रीकान्त, फोन

पाइमा के कुछ सदस्यों से एक भेंटवार्ता " - सौम्या, सिंकदराबाद

" आनापानसति ध्यान ही... ध्यान का सही तरीका है। " - सतीश नागवंश, बीदर

" ध्यान से जीवन पावन हुआ ! " - प्रशांत जप्ती, चिक्कोडी

पाइमा के कुछ सदस्यों से एक भेंटवार्ता " - प्राणहिता

" ध्यान की कृपा " - श्‍वेता शर्मा

" जीवन का लक्ष्य " - शिव जैन, लुधियाना

" ध्यान से अपने आप को पहचाना " - श्रीमति शीलप्रेम खुंगर, वर्धमाननगर (नागपुर)

" बस, ध्यान करें, चिन्तामुक्त हो जाएँ ! " - शशि भूषण सूद, चण्डीगढ़ 

" मेरी ध्यान यात्रा - अपूर्णता से पूर्णता की ओर " - सतीश चानना, दिल्ली

" मेरे जीवन का सच " - संजू ,कुरुक्षेत्र, हरियाणा

" पत्रीजी ने मेरे जीवन को परम सार्थकता प्रदान की है " -  Dr. संजय किंगी

" जीवन का हर पल सम्पूर्णता से जी रही हूँ... " - संगीता नेहरा, पंचकूला, हरियाणा

" भगवान बुध्द के पास ’आनन्द’ जैसे हैं " - साई कुमार

पाइमा के कुछ सदस्यों से एक भेंटवार्ता "- रवि किरण

" मिशन ध्यान चण्डीगढ़ - 2009 " - राम राजू, चण्डीगढ़

" एक ध्यान - आपका जीवन बदल सकता है - हमेशा के लिये " - राजशेखर

" प्रभु की ओर " - राजकुमार गुप्ता, लुधियाना

" प्राणियों से मित्रता करने की शक्ति मुझे प्राप्त हुई " - रजिता, हैदराबाद 

" ध्यान है... आनन्द है " - राजेश सराफ़, भुवनेश्वर

" ध्यान एक अनमोल खजाना " - राजिन्द्र कौल, जम्मू

" ‘आनापानसति ध्यान’ ही ध्यान का सही तरीका है ! " - रचना गुप्ता, लुधियाना

" मैंने शाकाहार को अपनाया " - मार्टिन प्लास्तरे, फ्रांस

" ध्यान के चमत्कार " - पद्मा, सिकन्दराबाद

" पत्रीजी हर पल हमारा ख्याल रखते हैं  " - नवकान्त, हैदराबाद

" ध्यान से बडा काम और कुछ भी नहीं हैं " - नरेन्द्र मुदलकर, हैदराबाद

" मधुर संगीत बन गई " - मिथलेश सक्सैन, दिल्ली 

" मार्गदर्शन के लिए शत - शत नमन " - मनोज शुक्ला, कानपुर

" ध्यान के चमत्कार " -  मंजुनाथ, बल्लारी 

" ध्यान हमें अंधकार से प्रकाश में लाता है " - ममता सिंह, गुड़गांव

" भगवान का साम्राज्य आपके अन्दर है " - महेश, चण्डीगढ़

" ध्यान ही एक मात्र मार्ग है " - ललिता नटवर पटेल, नागपुर 

" ध्यान सिखाना अब मेरे जीवन का उद्देश्य है " - कुलविन्दर सिंह मेहता, दिल्ली

" ध्यान युग " - किरन अग्रवाल, लुधियाना

" दुर्घटना जो यादगार बन गई " - कान्ता जैन, कटक

" ध्यान के सिवाय कुछ अच्छा नहीं लगता " - कैलाश रानी, दिल्ली

पत्रीजी का धरती पर महान् आविर्भाव " - के. वरलक्ष्मी , विजयवाड़ा 

" ध्यान के चमत्कार " - K. महालक्ष्मी, चन्नागिरी

" मेरे जीवन के बुझे दीपक को फिर से प्रकाशित कर दिया " - जसविन्दर कौर, दिल्ली

" ध्यानाभ्यास से जीवन सार्थक हुआ " - प्रो: जीवन्धर केतप्पनवर ,संचालक, बुध्द पिरामिड ध्यान केन्द्र, चिक्कोडी

" महात्मा गांधी.... उस पार से " - गिरिजा राजन

" ध्यान अनुभव " -धीरज रंजन, चण्डीगढ़

" ध्यान अनुभव " - M. बुध्दिमती, हैदराबाद

" अपना रूप पहचान, वहीं है तेरे भगवान ! " - आशागुप्ता, दिल्ली

" मेरे जीवन की यात्रा - मंत्र जाप से ध्यान तक " - अर्जुन कम्बोज, मोहाली

" पिरामिड़ मेरी आत्मा है " - आलोक जैन, हुगली, बंगाल

" ध्यान अनुभव " - अल्का चौधरी, सहारनपुर (U. P.)

" अनुभवले मी परिपूर्ण आरोग्य! " - संदिप ओंकार

Go to top